Sunday, October 2, 2022
The Funtoosh
Homeपैसा बनाओदिल्ली के बिल्डर्स को खाली फ्लैट बेचने में लगेंगे 6 साल, मुंबई...

दिल्ली के बिल्डर्स को खाली फ्लैट बेचने में लगेंगे 6 साल, मुंबई में सबसे अधिक अनसोल्ड फ्लैट्स


नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर में 1.01 लाख फ्लैट्स खाली पड़े (अनसोल्ड) हैं. बिल्डर्स को इन्हें बेचने में 6 साल लगेंगे. प्रॉपर्टी कंसलटेंट प्रॉपटाइगर ने यह राय जताई है. हालांकि उसका मानना है कि बेंगलुरु और कोलकाता के बिल्डर अपने अनसोल्ड फ्लैट्स करीब 3 साल में बेच सकेंगे. हालांकि 2.55 अनसोल्ड फ्लैट्स के साथ मुंबई पहले स्थान पर है.

ऑस्ट्रेलिया के आरईए ग्रुप और न्यूज कॉर्प के स्वामित्व वाले तीन रियल एस्टेट पोर्टल हाउसिंग.कॉम, प्रॉपटाइगर और मकान.कॉम हैं, जो भारत में सलाहकार और ब्रोकरेज सेवाएं प्रदान करती हैं. प्रॉपटाइगर के ताजा रिपोर्ट के अनुसार, भारत के 8 प्रमुख शहरों में बिल्डरों के पास 31 मार्च, 2022 तक करीब 7,35,852 आवासीय इकाइयां ऐसी थीं, जो अनसोल्ड हैं. पिछले साल मार्च में ऐसे फ्लैट्स की संख्या 7,05,344 थी. प्रॉपटाइगर की रिपोर्ट के अनुसार पहले इन खाली फ्लैट्स की बिक्री में 47 महीने का समय लगने का अनुमान था, लेकिन हाल में घरों की मांग बढ़ी है. इससे अब खाली घरों की बिक्री में 42 महीने का समय लगने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें- NCR में बिल्डर्स के अटके तो अथॉरिटी के हाथों-हाथ बिक रहे फ्लैट-प्लाट, जानिए क्यों

सबसे ज्यादा बिना बिके फ्लैट्स दिल्ली-एनसीआर में हैं. यहां खाली पड़े फ्लैट्स की संख्या 1,01,404 है. रिपोर्ट में कहा गया है कि बिल्डरों को इन फ्लैट्स को बेचने में 6 साल से अधिक यानी 73 महीने का समय लगेगा. वहीं, बेंगलुरु और कोलकाता में इनकी संख्या सबसे कम है. 31 मार्च, 2022 तक अहमदाबाद में 62,602 आवासीय इकाइयां खाली थीं. अहमदाबाद के फ्लैटों की बिक्री में 42 महीने का समय लगने का अनुमान है. उधर, बेंगलुरु में खाली घरों की संख्या 66,151 जबकि कोलकाता में 23,850 थी. रिपोर्ट के अनुसार बेंगलुरु और कोलकाता के बिल्डरों को अपने खाली फ्लैट्स बेचने में 31 महीने लगेंगे.

चेन्नई में लगेंगे 42 महीने
प्रॉपटाइगर की रिपोर्ट के अनुसार चेन्नई में अनसोल्ड घरों की संख्या 34,059 है. इन्हें बेचने में बिल्डरों को 34 महीने लगेंगे. हैदराबाद में 73,651 घर खाली पड़े हैं. इनकी बिक्री में 42 महीने का समय लगने का अनुमान है.

मुंबई में सबसे अधिक unsold housing stocks
देश की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई में अनसोल्ड आवासीय इकाइयों की संख्या 2,55,814 है. इन्हें बेचने में बिल्डरों को 48 महीने का समय लगेगा. वहीं, पुणे में अनसोल्ड आवासीय इकाइयों की संख्या 1,18,321 है, जिन्हें बेचने में 32 महीने का समय लगने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें- Anarock की रिपोर्ट में दावा, जनवरी-मार्च में घरों की बिक्री 71% बढ़ी

बिक्री 7 फीसदी बढ़ी
पिछले सप्ताह प्रॉपटाइगर ने कहा था कि 8 प्रमुख शहरों में जनवरी-मार्च के दौरान घरों की बिक्री साल-दर-साल आधार पर 7 फीसदी बढ़कर 70,623 इकाई हो गई है.

Tags: Business news in hindi, Delhi-ncr, Indian real estate sector, Real estate



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
The Funtoosh

Most Popular

Recent Comments