Sunday, October 2, 2022
The Funtoosh
Homeपैसा बनाओपैसे की जरूरत पड़ने पर बीमा कंपनी ले सकते हैं आर्थिक मदद,...

पैसे की जरूरत पड़ने पर बीमा कंपनी ले सकते हैं आर्थिक मदद, जानें क्या हैं नियम


LIC Personal Loan: बीमारी, दुर्घटना या फिर घर के प्रमुख व्यक्ति के नहीं होने पर बीमा बड़ा मददगार साबित होता है. बीमा की बदौलत हम कम पैसों बड़ी आर्थिक सुरक्षा हासिल करते हैं. तेजी से बदलते समय में बीमा हमारे जीवन का जरूरी हिस्सा बन गया है. कई मामलों में तो बीमा कवर लेना कानूनन जरूरी होता है.

इसके अलावा आर्थिक संकट के वक्त आप अपनी बीमा कंपनी से लोन भी ले सकते हैं. अगर किसी कंपनी से लाइफ इंश्योरेंस लिया है तो आप उस पर पर्सनल लोन भी ले सकते हैं. भारतीय जीवन बीमा निगम (Life Insurance Corporation-LIC) अपने ग्राहकों को पॉलिसी पर पर्सनल लोन की सहूलियत देता है. खास बात ये है कि बीमा पॉलिसी पर लिए जाने वाले पर्सनल लोन का ब्याज बैंक की तुलना में कम होता है.

बैंक या अन्य फाइनेंस संस्थाएं (Financial Company) आपकी पॉलिसी के प्रकार और उससे मिलने वाली रकम के आधार पर लोन देते हैं. ज्यादातर बैंक बीमा पॉलिसी की मैच्योरटी पर मिलने वाली रकम के 80 से 90 प्रतिशत राशि पर लोन देते है.

एलआईसी पॉलिसी के आधार पर लोन

लोन केवल मौजूदा LIC पॉलिसीधारकों को ही मिलता है. लोन की ब्याज दर बीमाधारक की प्रोफाइल पर निर्भर करती है. लोन की राशि एलआईसी पॉलिसी की सरेंडर वैल्यू पर निर्भर करती है. आमतौर पर, लोन राशि पॉलिसी वैल्यू के 90 प्रतिशत तक होती है. पेड-अप पॉलिसी में लोन की राशि पॉलिसी वैल्यू की 85 प्रतिशत तक है.

यह भी पढ़ें- चेक से पेमेंट करने से पहले इन बातों का रखें ध्यान, लागू हो गए हैं नए नियम

लोन के बदले LIC बीमा पॉलिसी को गिरवी रखती है. यदि आवेदक अपने लोन का भुगतान करने में चूक करता है तो बीमा कंपनी पॉलिसी को कुछ समय के लिए रोक सकती है. यदि लोन की बकाया राशि पॉलिसी की सरेंडर वैल्यू से अधिक हो जाती है, तो एलआईसी के पास पॉलिसी को समाप्त करने का अधिकार है. अगर बीमा पॉलिसी लोन चुकाने से पहले मैच्योर हो जाती है, तो एलआईसी के पास पॉलिसी राशि से लोन की राशि काटने का अधिकार है.

LIC के टर्म प्लान पर लोन नहीं मिलता है क्योंकि उनके पास गारंटीकृत सरेंडर वैल्यू नहीं है. जीवन प्रगति, जीवन लाभ, सिंगल-प्रीमियम एंडोमेंट प्लान, न्यू एंडोमेंट प्लान, न्यू जीवनआनंद, जीवन रक्षक, लिमिटेड प्रीमियम एंडोमेंट प्लान और जीवन लक्ष्य के बदले आप पर्सनल लोन ले सकते हैं.

अगर आपने किसी बैंक से बीमा पर लोन लेकर नहीं चुकाया तो आपकी बीमा पॉलिसी लैप्स हो जाएगी. ऐसे में बीमाधारी को लोन पर ब्याज के अलावा प्रीमियम का भी भुगतान करना होगा. बीमा कंपनी बीमा की सरेंडर वैल्यू से बैंक लोन को वसूला जा सकता है.

कैसे करें अप्लाई

आप ऑफलाइन या ऑनलाइन तरीके से LIC पॉलिसी के बदले लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं. आप नजदीकी एलआईसी कार्यालय में जाकर वहां KYC दस्तावेजों के साथ लोन के लिए आवेदन करना होगा. फॉर्म के साथ बीमा पॉलिसी के मूल दस्तावेज जमा करने होते हैं.

Tags: Insurance, Loan, Personal finance



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
The Funtoosh

Most Popular

Recent Comments