Sunday, October 2, 2022
The Funtoosh
Homeपैसा बनाओसेंसेक्स की शीर्ष 10 कंपनियों का मार्केट कैप 2.61 लाख करोड़ रुपये...

सेंसेक्स की शीर्ष 10 कंपनियों का मार्केट कैप 2.61 लाख करोड़ रुपये बढ़ा, समझिए आगे बाजार की चाल


नई दिल्ली . सेंसेक्स की शीर्ष 10 कंपनियों के मार्केट कैप में बीते सप्ताह सामूहिक रूप से 2,61,767.61 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई. शेयर बाजारों में तेजी के रुख के बीच सप्ताह के दौरान सबसे अधिक लाभ एचडीएफसी बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज को हुआ. वैश्विक अस्थिरता के बीच पिछले हफ्ते भारतीय शेयर बाजारों में तेजी को देखने को मिली थी.

बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,914.49 अंक या 3.33 प्रतिशत चढ़ गया. समीक्षाधीन सप्ताह में एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 41,469.24 करोड़ रुपये बढ़कर 8,35,324.84 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप बढ़ा 
रिलायंस इंडस्ट्रीज के बाजार मूल्यांकन में 39,073.7 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ और यह 17,95,709.10 करोड़ रुपये रहा. हिंदुस्तान यूनिलीवर की बाजार हैसियत 29,687.09 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी के साथ 4,88,808.97 करोड़ रुपये तथा भारती एयरटेल की 27,103.16 करोड़ रुपये के उछाल के साथ 4,16,625.19 करोड़ रुपये पर पहुंच गई.

यह भी पढ़ें- स्मॉलकैप ने पिछले वित्त वर्ष में रिटर्न के मामले में सेंसेक्स व निफ्टी को पीछे छोड़ा, आगे कैसा रहेगा प्रदर्शन ?

बैंकिंग स्टॉक का अच्छा प्रदर्शन
एचडीएफसी का बाजार पूंजीकरण 26,851.9 करोड़ रुपये बढ़कर 4,44,363.28 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. बजाज फाइनेंस के बाजार मूल्यांकन में 26,672.18 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई और यह 4,48,810.74 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

आईसीआईसीआई बैंक की बाजार हैसियत 25,975.05 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 5,11,777.01 करोड़ रुपये रही. टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का बाजार मूल्यांकन 18,088.37 करोड़ रुपये बढ़कर 13,89,678.12 करोड़ रुपये पर और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का मूल्यांकन 15,930.43 करोड़ रुपये की वृद्धि के साथ 4,53,548.76 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

यह भी पढ़ें- रूस-यूक्रेन युद्ध से भारी नुकसान, दुनियाभर में करीब 100 कंपनियों ने 3.40 लाख करोड़ की डील रोकी या वापस लिया

समीक्षाधीन सप्ताह में इन्फोसिस की बाजार हैसियत 10,916.49 करोड़ रुपये के उछाल के साथ 8,00,268.93 करोड़ रुपये पर पहुंच गई. शीर्ष 10 कंपनियों की सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले स्थान पर कायम रही. उसके बाद क्रमश: टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, इन्फोसिस, आईसीआईसीआई बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एसबीआई, बजाज फाइनेंस, एचडीएफसी और भारती एयरटेल का स्थान रहा.

एफपीआई की बिकवाली नहीं रूकी
विदेशी निवेशकों (Foreign Portfolio Investors-FPIs) की बिकवाली मार्च में भी नहीं रूकी. एफपीआई ने मार्च में भारतीय इक्विटी बाजार से 41,000 करोड़ की निकासी की है. विशेषज्ञों ने कहा कि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों के प्रवाह में निकट भविष्य में अस्थिर रहने की उम्मीद है, क्योंकि कच्चे तेल की कीमतों और महंगाई दर में वृद्धि हुई है.

Tags: Market, Market cap, Share market, Stock Markets



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
The Funtoosh

Most Popular

Recent Comments