Sunday, October 2, 2022
The Funtoosh
Homeपैसा बनाओबीते वित्त वर्ष स्मॉलकैप शेयरों ने किया मालामाल, इस साल कैसी रहेगी...

बीते वित्त वर्ष स्मॉलकैप शेयरों ने किया मालामाल, इस साल कैसी रहेगी इनकी चाल, जानें एक्सपर्ट्स की राय


नई दिल्ली . वित्त वर्ष 2021-22 में स्मॉलकैप शेयरों में पैसा लगाने वाले निवेशकों को जमकर मुनाफा मिला है. पिछले वर्ष में स्मॉलकैप शेयरों ने निवेशकों को 36 फीसदी का रिटर्न दिया है. जानकारों का मानना है कि इस वित्त वर्ष यानी 2022-23 में भी इन शेयरों का शानदार प्रदर्शन जारी रहेगा.

गौरतलब है कि यह मुनाफा उस स्थिति में आया जब पिछले वित्त वर्ष के अंतिम महीनों में भू-राजनैतिक घटनाक्रमों ने पूरी दुनिया के बाज़ारों को बैकफुट पर धकेल दिया था. दरअसल, 2021-22 के पहले 6 महीने में घरेलू बाज़ार में जो बढ़ते देखने को मिली वह दूसरी छमाही में बरकरार नहीं रह पाई. इसके बावजूद स्मॉलकैप शेयरों में सम्मिलित रुप से अपने निवेशकों को बेहतर रिटर्न दिया.

ये भी पढ़ें- FPI: विदेशी निवेशकों का टूट रहा है भरोसा, भारतीय बाजार से 41,000 करोड़ की निकासी

सेंसेक्स के कुल रिटर्न से आगे निकले स्मॉलकैप शेयर
राजनीतिक उठापठक, मुद्रास्फीति की चिंता और फॉरेन इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स (FII) की बिकवाली के चलते पिछले वित्त वर्ष की आखिरी छमाही में बाजार में उतार-चढ़ाव देखने को मिला. विश्लेषकों के अनुसार, पिछले वित्त वर्ष की पहली छमाही बहुत अच्छी रही लेकिन दूसरी छमाही में बाजार को मुश्किलों का सामना करना पड़ा. गौरतलब है कि बीते वित्त वर्ष सेंसेक्स कुल  18.29 फीसदी ऊपर चढ़ा लेकिन बीएसई पर स्मॉलकैप शेयरों ने उसे पछाड़ते हुए 36.64 फीसदी की बढ़त बनाई. इतना नहीं मिडकैप इंडेक्स ने भी 3,926.66 अंक या 19.45 फीसदी का रिटर्न दिया.

क्या कहते हैं विश्लेषक
ट्रेडिंगो के संस्थापक पार्थ न्यति के अनुसार, सभी मुश्किलों को दरकिनार करते हुए बाजार मजबूत जुझारू क्षमता दिखा रहा है. उन्होंने कहा कि बाजार स्ट्रक्चरल बुल फेज में है लेकिन बीच-बीच में बाजार में कुछ ‘करेक्शन’ (गिरावट) आ सकता है. उन्होंने कहा, ‘‘आमतौर पर मिडकैप और स्मॉलकैप बुल मार्केट से बेहतर प्रदर्शन करते हैं. मेरा मानना ​​है कि जारी वित्त वर्ष में भी इनका प्रदर्शन मुख्य बेंचमार्क से बेहतर होगा.

ये भी पढ़ें- सेंसेक्स की शीर्ष 10 कंपनियों का मार्केट कैप 2.61 लाख करोड़ रुपये बढ़ा, समझिए आगे बाजार की चाल

न्यति कहते हैं कि अप्रैल का महीना शेयर बाजारों और खासतौर पर मिडकैप और स्मॉलकैप के लिए सबसे अच्छा रहता है. उन्होंने कहा कि पिछले 15 में से 14 साल में बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स लाभ के साथ बंद हुआ है और इस बीच इसमें औसतन 7 फीसदी की वृद्धि हुई है. उन्होंने कहा, ‘‘हम व्यापक बाजार के लिए 2022-23 में शानदार शुरुआत की उम्मीद कर सकते हैं.’’

वहीं, जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर के अनुसार, ‘‘पिछले पांच-छह महीनों के दौरान व्यापक बाजार में ‘करेक्शन’ की वजह से स्मॉलकैप और मिडकैप निवेश के लिए अच्छे विकल्प बनकर सामने आए हैं.” हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि निकट भविष्य में महंगाई को लेकर अनिश्चितता बनी हुई. बकौल नायर, अर्थव्यवस्था की सुस्ती के कारण उतार-चढ़ाव की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है.

Tags: BSE Sensex, Share market



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
The Funtoosh

Most Popular

Recent Comments